You are here
Home > उत्तर प्रदेश > बड़गांव प्रकरण:शब्बीरपुर गांव में किसी भी दल को जाने की इजाज़त नही-सहारनपुर पुलिस

बड़गांव प्रकरण:शब्बीरपुर गांव में किसी भी दल को जाने की इजाज़त नही-सहारनपुर पुलिस

बड़गांव प्रकरण

सहारनपुर:- हाल ही में बड़गांव में हुए दो जातिय प्रकरण को देखते हुए जनपद सहारनपुर की पुलिस सभी राजनीतिक दलों पर शख्त नज़र आ रही है पुलिस ने साफ़ कह दिया है की गाँव में शांति व्यवस्था के साथ किसी भी प्रकार का समझोता नही किया जायेगा. पीड़ितों को हर प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध कराई जा रही है




गौरतलब है कि राजनेतिक दल बसपा का एक प्रतिनिधि मंडल आज बड़गांव में कुच करने वाला था जिसकों प्रसासन ने रोक दिया. आपको बता दें की बहुजन समाज पार्टी के जोन कॉर्डिनेटर नरेश गौतम, क़ाज़ी शाज़ान मसूद, ज़िला अध्यक्ष जनेश्वर सिंह, पूर्व विधायक महिपाल माजरा, ज़िला पंचायत चेयरमैन पति माजिद अली के नेतृत्व में बसपा का एक प्रीतिनिधि मंडल शब्बीरपुर के विवाद के सम्बंध में गांव में पीड़ितों से मिलने जा रहा था जिसे वहां तैनात पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा रोक दिया गया। जिसके बाद प्रतिनिधि मंडल ने थाना बड़गांव पंहुचकर सांकेतिक धरना दिया, ज़ोनल कॉर्डिनेटर नरेश गौतम, क़ाज़ी शाज़ान मसूद व ज़िला अधय्क्ष जनेश्वर सिंह ने कहा कि हमें अपने लोगों से मिलने नही दिया गया जो सामान्यत मानवाधिकारों के विरूद्ध है।




हम पीड़ितों के हाल जानने गांव में जा रहे थे, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण का ज़बरदस्ती रोका जाना सरासर गलत है।
इस अवसर पर डॉ रागिब अंजुम,हाजी मोहमद तौसीफ अनवर चौधरी, नरेंद्र ओलरी, जितेंद्र सिंह, शराफत खान चेयरमैन, अनवर कुरेशी, मियां बबलू ज़ैदी,राव जहांगीर, इरफान प्रधान सिरसली, प्रधान अंबेहटा शेख, तनवीर अंबेहटा मोहन सहित काफी संख्या में बसपाई मौजूद रहे।
जबकि पुलिस अधीक्षक ग्रामीण रफीक अहमद का कहना है कि किसी भी राजनीतिक दल को गांव में जाने की इजाज़त नही है, प्रशासन की मंशा हालात सामान्य करने की है.




इसलिये इस तरह सभी को रोका जाना जनहितार्थ आवश्यक है अन्यथा किसी एक को इजाज़त देने का मतलब है कि इस तरह सभी दलों के लोग पंहुचेंगे। हालात पूरी तरह कन्ट्रोल में हैं तथा पल पल निगरानी रखी जा रही है। और ग्रामीणों की सुरक्षा में हम किसी भी प्रकार की चुक नही चाहते है तो इसी लिए किसी भी राजनितिक दल को गाँव में जाने की अनुमति नही है बड़गांव के ग्रामीणों को खाने व् दवाइयों के साथ आम जन की सभी सुविधाएँ दी जा रही है राजनितिक दलों को इस बात से बेफिक्र रहना चाहिए, पुलिस प्रशासन को अपना काम करने दे

Comments

comments

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!