You are here
Home > उत्तर प्रदेश > मुसलमान और दलितों का उत्पीडन बर्दाश्त नही करेंगे- इमरान मसूद

मुसलमान और दलितों का उत्पीडन बर्दाश्त नही करेंगे- इमरान मसूद

इमरान

सहारनपुर-कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक इमरान मसूद ने आज कांग्रेस विधायक मसूद अख्तर के निवास पर प्रेसवार्ता कर कहा कि हाल ही ने हुए बड़गाँव प्रकरण में जिस कदर इंसानियत का नंगा नाच हुआ उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। दो पक्षो के बीच हुए मामूली बात पर झगड़े से भारी जानमाल का नुकशान हुआ है। इस झगड़े में एक 26 वर्षीय युवक की मौत हो गई , दर्जनों ग्रामीण गम्भीर रूप से घायल हो गए। इस दुख की घड़ी में मेरी सवेंदना म्रतक के परिजनों के साथ है।




और जो लोग घायल हुए है हम अपने खर्चे से उनका इलाज करवाएंगे। इमरान ने कहा कि मेरी इस बारे में राहुल गाँधी जी से बात हो गई है। जिन 55 लोगो के घर जले है हमारा प्रयास रहेगा कि चन्दा मांग कर उनके घरों को बनवाया जाए। और जिन लोगो का आगजनी में उपद्रवियों द्वारा अनाज जल गया है। उनके घरों में राशन पहुंचना हमारी पहली प्राथमिकता रहेगी।

इस झगड़े के पीछे किसी राजनीतिक पक्ष का होने के सवाल पर मसूद ने कहा कि यह सारी परिक्रिया एक दल विशेष के लोग गले मे भगवा पट्टा डाल कर करवा रहे है। बिना परमिशन के खुले आम सारे बुनियादी नियमों को तोड़ सड़कों पर तलवार असलहे लेकर रोड शो व यात्राएं करवाई जा रही है। इनके आगे पुलिस प्रसाशन पस्त नज़र आ रहा है। बड़गाँव की घटना इसका उद्धरण इस घटना में स्थानीय पुलिस और एस डी एम एक दूसरे पर इल्ज़ाम लगते नज़र आये हैं।




इस घटना में किन लोगों का हाथ हो सकता है के सवाल पर इमरान मसूद ने कहा कि भाजपा के लोग ही जनपद सहारनपुर में फसाद करवाना चाहते है। जिस तरफ सड़क दुधली में सांसद का दलित प्रेम उमड़ा था। कल बड़गाँव में हुई दलित घटना में वो क्यों दलितों की तरफ खड़े नजर नही आये। एक ओर तो प्रदेश के मुख्यमंत्री कहते नज़र आते है। कि गुंडाराज मुक्त प्रदेश बनाना है। कानून व्यवस्था लागू करनी है। लेकिन धरातल पर उनके आदेश कहीं नजर नही आ रहे है।




पुलिस प्रशसन इन उपद्रवियों के हाथों कठपुतली की तरह नज़र आता है। इमरान मसूद ने कहा कि दलितों व मुसलमानों के साथ उत्पीड़न बिल्कुल बर्दास्त नही किया जाएगा। पुलिस प्रसाशन इन भगवा अराजकता फैला रहे बदमासों को रोकना चाहिए। सड़क दुधली की तरह बड़गाँव में भी हमारा प्रयास रहेगा कि हिन्दू मुस्लिम सदभावना बनी रहे।



Comments

comments

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!