सहारनपुर में खाद्यय विभाग ने मिलावटी समोसे व पोपकोर्न पकड़े,कच्ची सामग्री कराई नष्ट

माज़िद कुरैशी
सहारनपुर। आपने एक कहावत सुनी होगी कि मिलावटी त्यौहारों का मौसम है,और कानून लचीला। ऐसा हम इसलिए कह रहे कि जनपद सहारनपुर में जितने भी ऐसे कारोबार चल रहे है जो आम जन की सेहत के साथ खिलवाड़ करने का काम करते है। ऐसे सभी कार्य जनपद में मुद्रा जी संरक्षण प्राप्त भृष्ट अधिकारियों व कुछ सामाजिक दलालों की मिलीभगत से चल रहे है। जिस कारण इन अवैध कामों को करने वाले सभी दबंगों के होंशले बुलन्द है। यहां तक कि मुद्रा जी के समक्ष अधिकारी भी मौनव्रत धारण करते हुए देखे जाते है। 




बहरहाल, गहराई में ना जाते हुए। आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से जनपद सहारनपुर के रेलवे रोड पर गुरद्वारा रॉड स्थित एक खण्डर नुमा मकान में मिलावटी समोसों का पीला कारोबार बड़ी तेजी के साथ चल रहा था। जिसकी लगातार सूचना मिल रही थी इस ख़बर को लेकर आज न्यूज़ हॉक्स 24 की टीम कार्यवाही हेतु खाद्यय विभाग पहुंची। जहां से खाद्य विभाग टीम पत्रकारों को लेकर गुरुद्वारे रॉड पर पहुंची। सयुंक्त टीम के आने पर मिलावटी सामग्री तैयार कर रहे लोगों में भगदड़ मच गई। 




आपको बता दें कि इस खण्डर नुमा मकान में बड़े स्तर पर खाद्य पद्रार्थों का नमूना, एक्सपायर्ड, व संदिग्ध सामग्री मिली । जिनमे पीने के पानी की बोतल,समोसा चटनी,पोपकोर्न,नमक व मैदा आदि प्रमुख सामग्री रही। 
जिसके सेंपल भर खाद्य अधिकारी ने बाकी बची सभी सामग्री को नष्ट करवा दी। 




👉फ़र्ज़ी रजिस्ट्रेशन पर चलाया हुआ था। पोपकोर्न ओर समोसे का कारोबार

खाद्यय अधिकारी द्वारा रजिस्ट्रेशन के बारे पूछे जाने पर अवैध तरीके से कारोबार चला रहा सोनू नाम का व्यक्ति कोई भी सटीक जवाब नही दे पाया।  यहां तक कि जिस फ़ूड रजिस्ट्रेशन का नाम उसने बताया वह किसी ओर के नाम पर पहले से ही चल रहा है जिसकी जानकारी अधिकारी ने स्वयं मीडिया को दी।

अवैध समोसे के कारोबार पर लगा छापा
अवैध समोसे के कारोबार पर लगा छापा





👉रेलवे स्टेशन पर होती थी मिलावटी समोसों की सप्लाई

छापे के दौरान पूछताछ में समोसा बनाने वाले कारोबारी ने बताया कि वह दिन भर  में 1500 व 2000 के बीच समोसे बनाते है जिनको रेलवे स्टेशन पर सप्लाई करने का काम फ़र्ज़ी वेंडरों द्वारा किया जाता है। जो रेलवे ट्रेक के माध्यम से स्टेशन पर एंट्री करते है। 




👉अवैध समोसे ओर अवैध प्रतिबंधित बाम के काले कारोबार का अड्डा बन चुका जिला सहारनपुर रेलवे 

उपरोक्त लिखी गई लाइन इस बात पर बिल्कुल सटीक बैठती है। कि मिलावटी मौसम है,, और कानून लचीला। आपको बता दें कि जनपद सहारनपुर का रेलवे स्टेशन इस तरह के सभी अवैध कामों को बढ़ावा देने का काम कर रहा है। पिछले दिनों थाना सदर अंतर्गत लकड़ी के पल के पास बने सरकारी रेलवे क्वार्टरों में हर प्रकार के नशा कराने वाली दवाइयों,प्रतिबन्धुत बाम बनाने आदि की सूचना भी लगातार मिलती रही है। लेकिन स्थानीय पुलिस व रेलवे अधिकारियों ने कोई भी कार्यवाही करने उचित नही समझ। 




👉खाद्यय विभाग की भूमिका पर भी उठे सवाल

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार आज समोसा छापे के दौरान खाद्य अधिकारी मिलावटी व अवैध समोसा बनाने वाले के साथ सम्पर्क बनाते हुए नज़र आये। जैसे ही मीडिया के लोग उस बात को कवरेज करने लगे। अधिकारी को अपनी गलती का साथ का साथ अनुभव हो गया और अधिकारी की गुटर गु कैमरें में दर्ज भी हो गई। 




👉लेकिन होगी कार्यवाही
खाद्य अधिकारी ने मीडिया को बताया कि पिछले कुछ दिनों से लगातार सूचना मिल रही थी कि एक पुराने खण्डर में अवैध रूप से समोसा बनाया जा रहा है। जिसकी सूचना पाकर आज खाद्य विभाग की टीम ने लगभग 15 किलो कच्चा समोसा ,8 किलो चटनी व समोसा तलने वाला सड़ा हुआ तेल नष्ठ करवाया। व नमक मैदा ओर रिफाइंड आदि के सेम्पल भी भरे गए। खाद्य अधिकारी ने बताया कि जनपद में रेलवे स्टेशन के पास ओर भी कालोनियों में इस तरह के अवैध कार्य होने की सूचना लगातार मिल रही है जिनके खिलाफ जल्द ही कार्यवाही अमल मे लाई जायेगी।

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!