You are here
Home > उत्तर प्रदेश > सहारनपुर में शोभायात्रा को लेकर फिर हुआ बवाल, एक युवक की मौत

सहारनपुर में शोभायात्रा को लेकर फिर हुआ बवाल, एक युवक की मौत

बड़गांव

सहारनपुर। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सबसे शांत जिले की उपाधि वाले जनपद सहारनपुर को शायद किसी की नजर लग गई है। इस जिले में पिछले कुछ सालों से हवाएँ में ज़हर घोलने का काम चला आ रहा है। सडक दुधली प्रकरण अभी शांत भी नही हुआ था कि सहारनपुर के कस्बा बड़गांव क्षेत्र के गांव शब्बीरपुर में एक पक्ष द्वारा महाराणा प्रताप की जयंती में डीजे बजाने को लेकर दो वर्गों में विवाद हो गया। यह विवाद एक तरफ़ से पथराव के साथ शुरु हुआ जिसके बाद दोनों पक्षों में जमकर पथराव के बाद फायरिंग और आगजनी भी शुरु हो गई। इस पुरे विवाद में कुछ लोगो के गोली लगने की सूचना मिली है जिनमें से एक २४ वर्षीय युवक की मौत हो गई। गोली लगने व् चलने की पुष्टि आधिकारिक रूप से हुई है।



बड़गांव
बड़गांव

सहारनपुर जनपद की सीमा से लगभग 28 किलोमीटर दूर बड़गांव कस्बे के पास स्थित एक गांव शिमलाना में एक पक्ष द्वारा महाराणा प्रताप जयंती के आयोजन किया जा रहा था। इसी आयोजन में जयंती निकाली जा रही थी। महाराणा प्रताप की यह जयंती अभी शब्बीरपुर गांव में पहुंची थी। कि यहाँ दुसरे दलित पक्ष के कुछ लोगों ने डीजे का विरोध किया इस पुरे मामले के दौरान ही पुलिस भी पहुंच गई। लेकिन स्थिति और बिगड़ गई मामला इतना फ़ैल गया कि दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए।और इससे पहले कि हालात काबू हो पाते दोनों तरफ से पथराव होन शुरू हो गया। इस पथराव से मौके पर भगदड़ मच गई। और इसके बाद भीड़ में से ही फायरिंग भी हुई। गोली लगने से दो लोगों के घायल हो गए। जिनमें से एक युवक की अस्पताल में जाते हुए मौत हो गई




आला अधिकारी पहुंचे मौके पर स्थिति को किया नियन्त्रण

घटना के बाद बड़गांव क्षेत्र में पथराव आगजनी की खबर मिलते ही सहारनपुर पुलिस बल के साथ डी आई जी ,डीएम-एसएसपी मौके पर पहुंचे। घटना के बाद जनपद सहारनपुर सहित आसपास के जनपदों के अधिकारी भी घटना स्थल की और पहुंचे और स्थिति को नियन्त्रण में करने की कोशिश की लेकिन गांव में तनाव के हालात थे।

जिसके बाद आई जी मेरठ ने शाम ५ बजे घटा स्थल पर पहुंच चुके थे लेकिन अभी स्थिति नियन्त्रण में है।

जब आसपास के जनपदों से मंगाना पड़ा फ़ोर्स





पिछले दिनों सडक दुधली प्रकरण में हुए बवाल में सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सहारनपुर प्रसाशन ने शामली और मुजफ्फरनगर से अतिरिक्त फ़ोर्स मंगवाया था ठीक इसी प्रकार हालत की समीक्षा करते हुए बड़गांव में हालात बिगड़ने पर पड़ोसी जिले मुजफ्फरनगर से भी पुलिस बल बड़गांव को बुलाया गया है, बड़गांव के पूरे क्षेत्र को छावनी बना दिया गया है। वही, सहारनपुर एसएसपी सुभाष चन्द्र दुबे का कहना है फिलहाल हालात सामान्य कर कानून व्यवस्था को बनाये रखना प्राथमिकता है। मामला ठंडा होने के बाद बाद पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी और फसाद करने वाले उपद्रवियों को बक्शा नहीं जाएगा। किसी को भी कानून हाथ में नही लेने दिया जायेगा



Comments

comments

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!