सहारनपुर हिंसा: अगर मुझे कुछ भी होता है तो बीजेपी सरकार जिम्मेदार होगी-मायावती





सहारनपुर:- हिंसा के बाद बसपा प्रमुख मायावती आज उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के हिंसा प्रभावित उस गांव के दौरे पर जा रही हैं, जहां पिछले कुछ दिनों पहले दलितों के घर जला दिए गए थे। मायवती ने सहारनपुर के लिए रवाना होने से पहले यूपी की योगी सरकार पर हमला बोला है। मायावती दिल्ली से आज सुबह सहारनपुर के लिए हेलिकॉप्टर से रवाना होने वाली थीं, लेकिन सहारनपुर के स्थानीय प्रशासन ने इसकी नही दी जिसके बाद वह सड़क मार्ग से सहारनपुर पहुंचेंगी।




सहारनपुर रवाना होने से पहले प्रेसवार्ता कर मायावती ने कहा कि, ‘अगर मुझे कुछ होता है तो भाजपा सरकार उसके लिए जिम्मेदार होगी, क्योंकि मैं हेलिकॉप्टर से जाना चाहती थी, लेकिन योगी सरकार के कारण रोड से जाने के लिए मजबूर हूं।’ मुझे अपने लोगों का हाल जानने के लिए कोई नही रोक सकता, मायावती ने कहा कि पार्टी के नेताओं ने सहारनपुर के डीएम और एसएसपी सुभाषचंद्र दुबे से मिल हेलिपैड की पर्मिशन मांगी थी, लेकिन उनके द्वारा वह ठुकरा दी गई। बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा, अब मेरे सहारनपुर पहुंचने और वहां से सकुशल वापस आने तक की जिम्मेदारी सरकार की है। यदि मुझे कुछ होता है तो उसकी जिम्मेदार भाजपा सरकार होगी.




आपको बता दें कि कुछ दिनों पहले सहारनपुर में दलितों और ठाकुरों के बीच जातीय हिंसा संघर्ष की शुरुआत 5 मई को हुई थी। जिसमें महाराणा प्रताप शोभायात्रा के दौरान डीजे बजाने से रोकने पर दलितों और ठाकुरों में संघर्ष हो गया था। इस फसाद में ठाकुर समाज के एक युवक की मौत हो गई थी। घटना में ठाकुर युवक की मौत के बाद दलितों के 60 से ज्यादा मकान जला दिए गए थे,महिलाओं और बच्चों के साथ मारपिटाई और बदसलूकी हुई थी, गुस्साई भीड़ ने कई वाहन फूंक दिए थे। इसी प्रकरण को लेकर गत रविवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर भीम सेना के नेतृत्व में हुए विशाल विरोध-प्रदर्शन में हजारों दलितों ने भाग लिया था। तभी से इस पूरे घटनाक्रम पर मायावती ने अब तक चुप्पी साध रखी थी। जिसपर मायावती ने गाँव का दौरा करना बेहतर समझा और दलितों में फिर से अपनी पेंठ जमाने कि कोशिश कि है.




दूसरी बात यह भी है की सहारनपुर बसपा सुप्रीमों मायावती के वोट बैंक का किला रहा है जिसे वह अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहतीं। वही,मायावती सहारनपुर जिले से दो बार विधायक रह चुकी हैं। हालांकि उत्तर प्रदेश में हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में बीएसपी जिले की एक भी सीट नहीं जीत पाई। और सहारनपुर संघर्ष के बाद चर्चा में आई भीम आर्मी के हाथों मायावती अपने वोटर बेस में सेंध लगवाना नहीं चाहती हैं।



Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!