You are here
Home > उत्तर प्रदेश > सहारनपुर में हुई हिंसाओं के सभी सवालों पर बोले एडीजी- जांच का विषय

सहारनपुर में हुई हिंसाओं के सभी सवालों पर बोले एडीजी- जांच का विषय

प्रेसवार्ता करते एडीजी आनद कुमार , रेंज के डी आई जी एवं मौजूदा एसएसपी सुभाषचंद्र दुबे

सहारनपुर- आज प्रेसवार्ता के दौरान सहारनपुर हिंसाओं की समीक्षा करने पहुंचे मेरठ जोन के एडीजी आनद कुमार से जब पत्रकारों ने सहारनपुर में 20 अप्रेल, 5 मई व् 9 मई में हुई हिंसाओं के कारणों बारें जानना चाहा तो एडीजी ने कहा की जांच चल रही है। 20 अप्रैल को सडक दुधली की घटना में नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी के सम्बन्ध में पूछने पर एडीजी बोले की अभी जांच चल रही है।




5 मई को हुई थाना बडगांव में थाना प्रभारी एम पी सिंह की संदिग्ध भूमिका में पहले हटाने और फिर बाद में चार्ज देने के सवाल पर भी एडीजी बोले की जांच का विषय है अनियमिता पाए जाने पर कार्यवाही होगी।




9 मई को हुई रामनगर घटना में एक राजनीतिक दल के पूर्व विधायक का नाम आने व् उसकी गिरफ्तारी के सम्बन्ध के सवाल पर एडीजी बोले की जांच चल रही है।




सबसे अहम सवाल कि तीनों घटनाओं के प्रकरण में गिरफ्तारी क्यों रोक दी गई पूछने पर एडीजी बोले की दोषियों की पहचान कर निर्दोष न फंसे इसके लिए नोटिस की कार्यवाही की जा रही है।




भीम आर्मी सेना का नक्सलीयों से कोई सम्बन्ध है के सवाल पर एडीजी ने कहा की अभी जांच चल रही है जांच और पुख्ता सबूत के बिना हम कुछ नही कह सकते।

मेरठ जोन के एडीजी आनंद कुमार ने कहा की दंगो के बाद सहारनपुर पटरी पर लौटने लगा है,कानून व्यवस्था की समीक्षा के लिए आये है जो घटनाएं हुए है वह निंदनीय है।उन्होंने साफ कहा किसी भी दंगाई को पुलिस बख्शने के मूँड में नही है,साथ ही किसी भी मजलूम का उत्पीड़न नही होगा। उन्होंने बताया की सबबीरपुर पुर में 9 मुकदमे दर्ज हुये है 17 गिरफ्तार हुए है।

सहारनपुर में तोड़फोड़ प्रकरण में 24 मुकदमे दर्ज हुये है जिनमे 37 गिरफ्तार हए है इनमे 07 आई टी एक्ट के आरोपी भी शामिल है,वही अधितर सवालो के जवाबो को जांच की बात कहकर एसडीजी आनंद कुमार टालते हुए दिखे-पूर्व विधायक पर मुकदमा दर्ज के सवाल व सरसावा थाना पर एसपी सिंह की तैनाती को भी जांच की बात कहकर टाल गये,जबकी सोशल मीडिया पर भड़काऊ भाषण देने वालों पर कार्यवाही की बात कही-डीआईजी जेके शाही-एसएसपी सुभाष चन्द्र दुबे वार्ता के दोरान मौजूद रहे।

Comments

comments

Leave a Reply

Top
error: Content is protected !!