लेडी सीओ ने लगाई भाजपा नेताओं को लताड़, एसएसपी मुनिराज ने दिया मामले की जांच का आदेश

बुलन्दशहर। उत्तर प्रदेश में योगीराज कायम होते ही भाजपा कार्यकर्ताओं की दबंगई और गुंडई बुलंदी पर है। ऐसा ही एक उद्धरण है बुलंदशहर के भाजपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य प्रमोद लोधी का पुलिस ने चालान काटा और बाइक सीज कर दी। जिसके बाद भाजपा नेता ने पुलिसकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया और वर्दी तक झिंझोड़ दी, यहाँ तक कि आरोप है कि प्रमोद लोधी को गिरफ्तार कर ले जाने के दौरान भाजपा कार्यकर्ता महिला सीओ से भी भिड़ गए।




आपको बता दें कि बुलंदशहर में इस मामले में भाजपा कार्यकर्ता और महिला सीओ के बीच जमकर कहासुनी हुई। पुरे सीन तक भाजपा कार्यकर्ता सीओ से लगातार जुबानी जंग करते नजर आए।

देखे वीडियो और अगर पसंद आये तो शेयर करें और हमारा चेनल भी सब्सक्राइब करें

क्या है मामला ??

मिलीजानकारी के अनुसार, मामला यह था कि भाजपा के समर्थित जिला पंचायत सदस्य प्रमोद लोधी बिना हेलमेट बाइक से था। इस दौरान उसे चेकिंग अभियान में खड़े पुलिसकर्मियों ने रोक लिया और उसका चालान कर दिया। जिसके बाद प्रमोद लोधी सीओ श्रेष्ठा सिंह व कोतवाल कौशलेन्द्र यादव से उसने दुर्व्यवहार किया। जिसके बाद उसकी बाइक सीज कर दी गई।




गुंडई दिखाते हुए गिरफ्तार आरोपी को पुलिस छुड़ा ले गए भाजपा कार्यकर्ता

बुलन्दशहर सीओ श्रेष्ठा सिंह का आरोप है कि शुक्रवार को जब प्रमोद लोधी को पकड़ स्याना पुलिस कोर्ट में ला रही थी तो रास्ते में कुछ भाजपा के कार्यकर्ताओं ने प्रमोद को छुड़ा लिया और भाजपा विधायक देवेन्द्र लोधी के चैम्बर में ले गये। हालांकि विधायक के कहने पर आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जमानत मिल गयी। उनका आरोप है कि कोर्ट परिसर में ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनसे नोंकझोंक की।

पुलिस पर अवैध 2000 रूपये वसूली का लगाया आरोप
जब यह बहस भाजपा नेताओं र सीओ के बीच हो रही थी तो इस पूरे मामले का एक वीडियो भी रिकॉर्ड कर लिया गया है। जिसमें भाजपा कार्यकर्ता सीओ पर अवैध वसूली का आरोप लगा रहे थे। उनका कहना था कि वाहन सीज करने के बाद उनसे 2,000 रुपये मांगे गए थे। इस पर सीओ श्रेष्ठा सिंह ने जब रसीद मांगी तो कार्यकर्ता नहीं दिखा पाए। वहीं, कार्यकर्ता आरोप लगाने में जुटे रहे।




भाजपा कार्यकर्ता पर भड़क उठीं गुस्से में तिलमिलाई महिला सीओ
जब यह आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं ने लगाया तो इस बात पर सीओ भी भड़क उठीं और उन्होंने कहा कि ‘ऊपर जाकर सीएम से लिखाकर ले आइए कि पुलिस का अधिकार नहीं है चालान करने का, हम अपने गाड़ियों की चेकिंग नहीं कराएंगे। हम वहां पर परिवार को छोड़कर मजे लेने के लिए नहीं खड़े होते हैं, ड्यूटी करते हैं, इसके बाद आपका धरना देख रहे हैं। हमें कोई शौक नहीं है।’





सीओ ने कहा की जिस प्रकार की आप लोगो की गुंडई और हरकतें है पार्टी से निकल के आएगा कि यह लोग भाजपा के गुंडे हैं
वहीं, ‘उन्होंने कहा कि आपके लोगों ने हमारे साथ दुर्व्यवहार किया है। जिसके बाद आप लोग कहते हैं कि आप भाजपा के कार्यकर्ता हैं। नहीं, धीरे-धीरे पार्टी से ही निकलने लगेगा कि ये लोग भाजपा के गुंडे हैं। यहाँ ध्यान देने वाली बात है की सीओ यह कहती नजर आ रही हैं कि ‘आप लोग ही भाजपा की छवि खराब कर रहे हैं।’ सीओ का मतलब यह था की आप लोग भाजपा को भी बदनाम करने में लगे हुए है.




भाजपा कार्यकर्ताओं की बढती दबंगई और जनादेश को देखते हुए महिला सीओ ने कहा- यहां खड़े सभी के खिलाफ मुकदमा करूंगी
भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि उनकी पिटाई की गई है। जिस पर उन्होंने जवाब दिया कि ऑफिस की बात कचहरी में करने वाली नहीं होती। कि जितने लोग यहां पर हो सबके खिलाफ मुकदमा ठोकूंगी। और, प्रमोद पर धारा 354 भी लगाऊंगी। मामले को लेकर जहा भाजपा विधायक देवेन्द्र लोधी ने भाजपा कार्यकर्ताओं का शोषण किये जाने का सीओ पर आरोप लगा एसएसपी से शिकायत की है। वहीं, एसएसपी मुनिराज ने मामले की जांच कर कार्रवाई का दावा किया है।

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!